Thursday, July 26, 2007

जिला पुलिस द्वारा विशेष कार्यवाही

पिछले दिनों से पुलिस अधीक्षक, जिला बाड़मेर द्वारा चलाये गए अपराधियों की धरपकड़ अभियान के निरंतर में दिनांक २५-७-२००७ को सूचना मिली कि स्थानीय बाजार में कुछ मोबाईल के दूकानदारों द्वारा मोबाईल फोन महिलाओं के नग्न व अश्लील चलचित्र एवं चित्र लोड किये जाते है, जिससे समाज में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है तथा महिलाओं कि गरिमा को ठेस पहुँचती है। पुलिस अधीक्षक श्री नितिन दीप ब्लग्गन, के निर्देशन में श्री लखमन राय राठोड़ के नेतृत्व में श्री माणक राम उ०नि०, श्री राणा राम स०उ०नि०, श्री सोमा राम स०उ०नि० पुलिस थाना कोतवाली, श्री पन्ना राम हैड कानि०, कार्यालय पुलिस अधीक्षक व पुलिस पार्टी द्वारा क़स्बा बाड़मेर में आशापूर्णा टॉवर स्थित 'माँ आशापूर्णा मोबाईल' दुकान पर दबिश देकर मुलजिम राहुल पुत्र आनंद शर्मा नि० बाड़मेर द्वारा कम्प्यूटर से अश्लील फिल्मों का प्रदर्शन करना ई मोबाईल पर लोड करना पाये जाने से गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से १ कम्प्यूटर, १ पेन ड्राईव, १ मेमोरी कार्ड राईटर व ५१२ एम०बी० के 2 मोमोरी कार्ड बरामद किये जाकर पुलिस थाना कोतवाली बाड़मेर पर मुकदमा स० २४३ अंतर्गत धारा ६७ इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट, ३, ४/६ महिला अशिष्ट रुपण(प्रतिषेध) अधिनियम, २९२ भा०दं०सं० के तहत प्रकरण पंजिबद्ध किया।


इसी के निरंतर में इस दल द्वारा शर्राफा बाजार में स्थित 'वीनस मोबाईल' दुकान पर दबिश देकर मुलजिम जयपाल पुत्र तग सिंह राजपूत नि० चोसरा द्वारा कम्प्यूटर से अश्लील फिल्मों का प्रदर्शन करना व मोबाईल पर लोड करना पाये जाने से गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से १ कम्प्यूटर, १ पेन ड्राईव, २ मेमोरी कार्ड राईटर व १ जी०बी० का १ मोमोरी कार्ड बरामद किया जाकर पुलिस थाना कोतवाली बाड़मेर पर मुकदमा स० २४४ अंतर्गत धारा उपर्युक्त के तहत प्रकरण पंजिबद्ध किया। दोनों प्रकरणों का अनुसंधान श्री सुनील कुमार उप अधीक्षक पुलिस चोह्टन कर रहे है।


गंदी एवं अश्लील फिल्मों लोड करने हेतु पेन ड्राइव उपयोग में लेते थे :-

गत वर्ष इस प्रकार का प्रकरणों दर्ज होने से उक्त दुकानदार कम्प्यूटर में अक्शर इस प्रकार की क्लिपों को नहीं रखते थे। सामान्य तौर पर छोटी एवं आसानी से शीघ्र हटाने योग्य पेन ड्राइव का उपयोग करते थे ताकी किसी भी समय सुचना प्राप्त होते ही पेन ड्राइव छिपाने का प्रयास करते थे लेकिन इस कार्यवाही के दौरान पुलिस ने सजगता से मुलजिम को बचने का मौका ही नही दिया।

3 comments:

Neeraj Rohilla said...

बाडमेर पुलिसदल को शुभकामनायें एवं उनकी सजगता और जनता के प्रति सेवाभाव के लिये साधुवाद,

आप लोग एक नया उदाहरण प्रस्तुत कर रहे हैं।

आभार स्वीकार करें ।

Sanjeet Tripathi said...

बधाई!! साधुवाद!!

समय समय पर ऐसे ही अभियान हमारे शहर की पुलिस भी चलाती है, तब एक दिक्कत पुलिस के आला अफ़सरों ने मीडिया के लोगों को बताई थी, समस्या यह थी कि डाउनलोडिंग करने वाले दुकान के कंप्यूटर पर तो पता कर लिया जाता है कि अश्लील सामग्री है या नही पर जब जन-सामान्य के हाई फ़ाई मोबाईल की चेकिंग करने की बात आती है तो निचले स्तर का पुलिस जवान हाई फ़ाई मोबाईल के फ़ंक्शन ही नही जानता तो बहुत से लोग ऐसी चेकिंग से बच निकलते हैं। ड्यूटी जितने लोगों की लगाई गई थी उनमें से सिर्फ़ चार लोग ऐसे मोबाईल को हैंडल करना जानते थे!

तो एक सवाल, जब अपराधी और अपराध तकनीक की पूरी जानकारी रख रखा है और उपयोग कर रहा है तो अपराध रोकने वाले कानून के रखवाले तकनीक का उपयोग करना कब सीखेंगे!
समय के मुताबिक चलते हुए इस बात पर पहले ध्यान देना होगा हमें।

Shrish said...

इस कार्यवाही के लिए बाड़मेर पुलिस को बधाई।

आज आईटी और स‌ाइबर क्षेत्र में बढ़ते अपराधों को देखते हुए आवश्यकता है कि पुलिस कर्मियों को इस‌ स‌ंबंध में प्रशिक्षित किया जाए।