Monday, July 23, 2007

जिले का सर्वश्रेष्ठ कानिस्टेबल घोषित

प्रति माह की भांति ही, इस माह भी जिले के तीनों वृतों से चयन किये गए श्रेष्ठ कानि० के कार्यों का विश्लेषण किया गया। वृत्त बाड़मेर से श्री प्रेमा राम कानि० पुलिस थाना गिराब, वृत्त चोह्टन से श्री देवाराम कानि०, पुलिस थाना चोह्टन, वृत्त बालोतरा से श्री गोपी किशन कानि०, पुलिस थाना बालोतरा व जिला विशेष शाखा से श्री खेता राम कानि० द्वारा माह जून में संपादित किये गए कार्यों की समीक्षा की गई। सम्पूर्ण कार्यों, कार्यकुशलता एवं अभिरुचि के कार्यों के अवलोकन एवं विश्लेषण के आधार पर श्री गोपीकिशन कानि० जो पुलिस थाना बालोतरा में तैनात है, को माह का सर्वश्रेष्ठ कानि० घोषित किया गया।

श्री गोपीकिशन द्वारा निम्नलिखित कार्य सराहनीय एवं प्रशंनीय पाये गए :-
  1. पुलिस थाना बालोतरा में नकबजनी शीर्षक में दर्ज अपराध में लिप्त अपराधी भगवाना व राजेश आचार्य का पता लगाकर गिरफ्तार करवाया तथा १५०,००० रूपये की कीमत के कीमती आभूषण बरामद करवाया।
  2. २ प्रकरण एन डी पी एस एक्ट, २ वन अधिनियम, ३ सार्वजानिक जुआ अध्यादेश, १ शस्त्र अधिनियम व १ प्रकरण आबकारी अधिनियम में दर्ज करवाने हेतु आपराधिक सुचना संकलित करने में सफलता अर्जित की।
  3. १ स्थाई वारंटी व १ मफरूर को गिरफ्तार करवाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

7 comments:

Sanjeet Tripathi said...

गोपीकिशन जी को बधाई व शुभकामनाएं

उमाशंकर सिंह said...

ऐसे कर्मठ पुलिस अधिकारी/जवान की सख्त ज़रुरत है। इन्हें हमारी भी बधाई और शुभकानाएं।

उम्मीद है दूसरे इनसे सीखेंगे

शुक्रिया

उमाशंकर सिंह said...

पुलिस के बारे में मेरी राय आमतौर पर अच्छी नहीं है। पत्रकार हूं और उससे बड़ी बात कि हर पल हर समय को बारीक निगाह से देखने की कोशिश करता हूं। चौक चराहों पर एक कांस्टेबल को २ से लेकर २०० रुपये तक में बिकते देखा है। थाने में झूठा सच्चा मुकद्दमा बनाते देखा है। चित्त को पट और पट को चित्त करते देखा है। पर गोपीकिशन जी जैसे लोग सेवा में बेशक थोड़े ही हों...पर इन जैसे कर्मयोगियों की वजह से ही वर्दी की इज्ज़त बची हुई है। इनको हमारी तरफ से एक बार फिर बधाई

Udan Tashtari said...

गोपीकिशन जी को बधाई.

sanjay tiwari said...

गोपीकिशन जी को बधाई के साथ-साथ बाड़मेर पुलिस महकमें द्वारा किये जा रहे काम की तहे-दिल से सराहना. क्या बाड़मेर में कुछ लोग इस माध्यम का उपयोग करते हैं?

Jitendra Chaudhary said...

बहुत अच्छे
भाई गोपीकिशन को बहुत बहुत बधाईयां।

दुनिया कितनी सिमट सी गयी है, विदेश मे बैठे लोग भी बाड़मेर मे हो रही हर दिन की गतिविधियों की खबर सभी को हो रही है।

हमारे कुवैत मे भी राजस्थानी भाईयों की एक संस्था है, मैने उन्हे आपके ब्लॉग का पता दिया है। उम्मीद है आपका ब्लॉग देखकर उन्हे अच्छा लगेगा।

आपसे भी निवेदन है कि बाड़मेर और आसपास के इलाके के बारे मे कुछ विस्तार से बताएं।

Shrish said...

बधाई गोपीकिशन जी को। बाड़मेर पुलिस को धन्यवाद नई-नई जानकारियाँ देने के लिए।